Hindi, asked by Jessej466, 12 days ago

हमारे हरि हारिल की लकड़ी हारिल की लकड़ी पंक्ति में हारिल क्या है ?

Answers

Answered by sonalipoojri77
3

Answer:

व्याख्या- श्रीकृष्ण के प्रति अपने प्रेम की दृढ़ता को प्रकट करते हुए गोपियों ने उद्धव से कहा कि श्रीकृष्ण तो हमारे लिए हारिल पक्षी की लकड़ी के समान बन गए हैं। अर्थात् जैसे हारिल पक्षी सदा अपने पंजों में लकड़ी पकड़े रहता है वैसे हम भी सदा श्रीकृष्ण का ध्यान करती रहती हैं।

Similar questions